लखनऊ - की बेटी मनोवैज्ञानिक व समाज सेविका योग प्रशिक्षक ओम कुमारी सिंह को मुंबई में मिला सम्मान
चिदंबरम का मतलब इस वक्त महज 2जी घोटाले में फंसे नेता का कुर्सी बचाना भर नहीं है। बल्कि मनमोहन सिंह के उस खेल का बचना भी है जो आईएमएफ और वर्ल्ड बैंक के आसरे देश में बीते 20 बरस से मनमोहन-चिदंबरम की जोड़ी खेलती आ रही है। आर्थिक सुधार की जो लकीर मनमोहन सिंह ने 1991 में बतौर वित्त मंत्री बनकर शुरु की, अ.....

आगे पढ़ें...

समाज मे उत्कृष्ट कार्य करने वाली 118 विभूतियां सम्मानित
सामने प्रभाष जोशी और सन्नाटा छा जाए। जो डराने लगे। असम्भव है। लेकिन यह भी हुआ। पहली बार डर लगा... दिमाग में कौंधा, अब। एम्बुलेंस का दरवाजा बंद होते ही खामोशी इस तरह पसरी कि अंदर चार लोगों की मौजूदगी के बीच भी हर कोई अकेला हो गया और साथ कोई रहा तो चिरनिद्रा में प्रभाष जोशी। पहली बार लगा...अब सन्नाटे .....

आगे पढ़ें...

मुजफ्फरनगर में जमकर बवाल, सीओ की गाड़ी में तोड़फोड़ और 5 पुलिसकर्मी घायल, देखें तस्वीरें
सोनिया गांधी ने सत्ता टिकाये रखने की राह पकड़ी और राहुल गांधी ने टिकी सत्ता डिगे नहीं, इस राह को पकड़ा। दागियों के जीतने की संभावना मौजूदा चुनावी सिस्टम में सबसे ज्यादा है, इसे सोनिया गांधी समझती है और इस सिस्टम से आम वोटर परेशान और दुखी है इसलिये वोटरो की भावना के साथ खड़े होना जरुरी है इसे राहुल ग.....

आगे पढ़ें...

‘मुस्लिम तस्वीरों में विश्वास नहीं रखते, ताे उन्हें परेशान नहीं होना चाहिए !’ – बाबा रामदेव
सिर्फ 40 मिनट के भीतर प्रियंका गांधी को राष्ट्रीय राजनीति के मंच पर लाने के ऐलान की खबर की मौत हो जाती है। लेकिन इन चालीस मिनट में ही गांधी परिवार की एक्स-रे रिपोर्ट सामने आ जाती है। पहला सवाल प्रियंका को लेकर खड़ा होता है कि क्या वाकई कांग्रेस के लिये प्रियका तुरुप का पत्ता है। जिसके सामने राहुल गा.....

आगे पढ़ें...

मेयर ने कंपनी और इन अफसरों को दी चेतावनी, कहा- काम नहीं करना है तो लखनऊ छोड़ दीजिए
2013 के चुनाव वोटरों के लिये पहली बार उम्मीदवारों को बाकायदा बटन दबाकर खारिज करने वाला भी चुनाव होगा। यानी ईवीएम की मशीन में वोटरों को यह विकल्प भी मिलेगा कि वह किसी भी उम्मीदवार को चुनना नहीं चाहते है। लेकिन राइट टू रिजेक्ट से इतर इनमें से कोई नहीं वाला बटन क्या वाकई राजनीतिक दलों पर नैतिक दबाव बना.....

आगे पढ़ें...

...जब जेल में अमित शाह ने खाई थी कांग्रेस को खत्म करने की कसम
पीएम की दौड़ में नरेन्द्र मोदी जिस तेजी से सरदार पटेल को हथियाने में लगे हैं, उसने पहली बार यह सवाल भी खड़ा कर दिया है कि कहीं वाजपेयी और आडवाणी की राह पर ही तो मोदी नहीं चल पड़े हैं। क्योंकि जिस धर्मनिरपेक्षता को वैचारिक स्तर पर सरदार पटेल ने रखा उससे आरएसएस ने कभी इत्तेफाक नहीं किया। और संघ ने राष.....

आगे पढ़ें...