भारत के सर्वोच्च न्यायालय के माननीय मुख्य न्यायाधीश क्या आप कलयुग के भगवान दुर्गा प्रसाद पाण्डेय व डा0 अनूप यादव के साठगाँठ के ऊपर भी क्या रोयेगें ? आपको रोने कीे फुरसत है, तो एक बार जरूर रोइए । माननीय उच्च न्यायालय खण्ड पीठ लखनऊ के माननीय न्यायामूर्ति श्री अमरेशवर प्रताप शाही, सीनियर जज लखनऊ जिन्हें फ्रेश केश सुनने से ही फुरसत नही तो ऐसे में पुराने केसों की सुनवाई करने के लिए कोई व्यवस्था है ? डा0 अनूप यादव आई0ए0एस0, एल0डी0ए0 वी0सी0, जो कि कहते है मै सिस्टम हूँ सिस़्टम भ्रष्ट नही होता भ्रष्टाचार के लिए ही होता है और कैमरा के सामने दुर्गा प्रसाद पाण्डेय के अवैध निर्माण के बारे मे बोलने से इनका रूह काॅपने लगता है और हमारा फोन उठाने का तो जहमत ही नही मोल लेते है ।

इनसे मिलिएं ये है दुर्गा प्रसाद पाण्डेय बहादुरपुर का भगवान श्री कृष्ण, इनके अवैध निर्माणाधीन काम्पलेक्श जिसका एल0डी0ए0 द्वारा ध्वस्तीकरण का आदेश हो चुका है, माननीय उच्च न्यायालय मे मामला विचाराधीन .....

आगे पढ़ें...

अखिलेश की इमेज मजबूत करने के लिए स्क्रिप्टेड था मुलायम कुनबे में 72 घंटे का ड्रामा

पॉलिटिकल एनालिस्ट्स का कहना है कि मुलायम सिंह अखिलेश को मजबूत बनाना चाहते हैं। यही वजह है कि न तो इस बार उन्होंने कैबिनेट में शिवपाल को वापस लेने की बात कही और न ही अखिलेश पर सवाल खड़े किए।

आगे पढ़ें...

समाजवाद का अपमान कर रहे ‘कथित समाजवादी’

(crime review): श्रमिकों के लिए पवित्र तथा शहद जैसी मिठास देने वाले शब्द ‘समाजवाद’ का निरादर जिस प्रकार कथित समाजवादी नेताओं मुलायम सिंह यादव, लालू प्रसाद यादव, नीतीश कुमार तथा नई पीढ़ी के नेता व यू......

आगे पढ़ें...

मैं डाॅ0 अनूप यादव आई0ए0एस0 मै सिस्टम हूँ और सिस्टम भ्रष्ट नही होता भ्रष्टाचार के लिये ही होता है।

माननीय मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का चहेता आई0ए0एस0 डाॅ0 अनूप यादव के प्रति अखिलेश यादव से मित्रवत् सम्बन्ध का हवाला देते हुए डाॅ0 अनूप यादव आई0ए0एस0 पूर्व मण्डी निदेशक, मण्डी परिषद् के लिए मुख्यमंत्री अ.....

आगे पढ़ें...

समाजवादी पार्टी में घमासान के बीच फिर सुलह के कुछ आसार, लखनऊ में मुलायम और अखिलेश के बीच हुई बैठक

समाजवादी पार्टी (सपा) में मचे अंदरुनी घमासान के बीच अब कुछ सुलह के आसार भी नजर आ रहे हैं। मुलायम सिंह यादव ने अपने रुख में कुछ नरमी लाते हुए कहा है कि वह अभी भी पार्टी के अध्यक्ष हैं और उनके अपने पुत.....

आगे पढ़ें...

1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20
21 22
 

फेसबुक



ट्विटर