आरक्षण की प्रासंगिकता
वरिष्ठ और जिम्मेदार कांग्रेस नेता जनार्दन द्विवेदी के आरक्षण को लेकर दिए बयान से भले ही उनकी पार्टी के लोग इत्तेफाक नहीं रखते हों लेकिन इस बयान ने आरक्षण के मसले पर एक बार फिर बहस छेड़ दी है। एक बार फिर बहस हो रही है कि संविधान ने जिन मुद्दों को ध्यान में रखते हुए आरक्षण की वकालत की थी क्या अब भी वो.....

आगे पढ़ें...

कांग्रेस का नया फॉर्मूला
आरक्षण को लेकर जनार्दन द्विवेदी का बयान और खाप पंचायतों को लेकर पी चिदंबरम का बयान कांग्रेस पार्टी में ट्रांसफोर्मेशन के दौर का इंडीकेटर है। कांग्रेस को लगने लगा है कि अब अम्ब्रेला पॉलिटिक्स का दौर खत्म हो रहा है। दिल्ली लोकसभा चुनाव के परिणामों ने कांग्रेस को ये सोचने पर मजबूर कर दिया है कि देश में.....

आगे पढ़ें...

सियासी आतंकवाद?
वोट की राजनीति की वजह से उत्तर भारत में बुरी तरह परेशान कांग्रेस ने अब पूरा ध्यान दक्षिण भारत पर लगा दिया है। हालांकि कांग्रेस की इस पूरी कवायद का उसे कितना फायदा होगा ये तो भविष्य के गर्भ में छिपा है लेकिन इसका एक नतीजा जो लगभग तय लग रहा है वो ये है कि देश में एक बार फिर से अलगाववादी ताकतों को आवाज.....

आगे पढ़ें...

यंग इंडिया और मोदी
गुजरात के मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी के बीजेपी के पीएम उम्मीदवार बनने के पीछे सबसे बड़ी वजह रही है युवाओं के बीच उनकी लोकप्रियता। जिसके चलते बीजेपी को आडवाणी जैसे वरिष्ठ चेहरे की जगह पर मोदी को आगे करना पड़ा जाहिर है ये मोदी की राजनीतिक स्टाइल का ही कमाल है कि उम्र के छह दशक से ज्यादा पार करने के बाद.....

आगे पढ़ें...

कांग्रेस-बीजेपी का साझा संकट
देश के दोनों बड़े राष्ट्रीय दल एक बार फिर अपने-अपने जनाधार विहीन नेताओं के कुचक्र के शिकार होते दिखाई दे रहे हैं। महज कुछ हफ्तों में लोकसभा चुनाव शुरू हो जाएंगे। ऐसे में दोनों ही राष्ट्रीय दलों के कुछ चुने हुए नेताओं के फैसले, बयानबाजियों के चलते एक बार फिर ऐसा लगता है कि ये आम चुनाव भी सकारात्मक मु.....

आगे पढ़ें...

1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19