मुस्कुराना छोड़ ठहाका लगाइए आप खूनी लखनऊ में हैं
" ना तो हम रुके हुये थे और ना ही आपत्तिजनक अवस्था में थे। हमारी ओर से कोई उकसावा नहीं था मगर कास्टेबल ने गोली चला दी। " ये लखनऊ की सना खान का बयान है, जो कार में ड्राइवर की बगल वाली सीट पर बैठी थी । और ड्राइवर की सीट पर उनका बॉस विवेक तिवारी बैठा हुआ था । दोनो ही एप्पल कंपनी में काम करने वाले प्रोफे.....

आगे पढ़ें...

जिन्ना की तस्वीर लगाने से ए.एम.यू. ‘राष्ट्रविरोधी’ कैसे हो गई
प्रश्र : शैतानी भरे नवीनतम शब्द का नाम दीजिए जो देश का साम्प्रदायिक आधार पर बंटाधार कर सकता है?
उत्तर : मोहम्मद अली जिन्ना जोकि पाकिस्तान के संस्थापक थे और इसी कारण भारत के विभाजन के जिम्मेदार थे।

प्रश्र : क्या कारण है कि हमारे राजनीतिज्ञों को उनकी तस्वीर में नई त.....

आगे पढ़ें...

पहले सिस्टम करप्ट था , अब करप्शन ही सिस्टम है ।
वेल्लूर 24 करोड़ तो दिल्ली 15 करोड़ 65 लाख। चेन्नई 10 करोड़ तो चित्रदुर्ग 5 करोड़ 70 लाख। गोवा डेढ़ करोड़ और उसके बाद मुंबई से लेकर कोलकाता और जयपुर से लेकर पुणे तक और गाजियाबाद से लेकर गपडगांव यानी गुरुग्राम तक लाखों के नये नोट जब्त किये गये हैं। और देश के सिर्फ 16 हीनहीं बल्कि 32 जगहों से जो अवैध .....

आगे पढ़ें...

हर आंख में एक सपना है...
पानी, बिजली, खाना, शिक्षा, इलाज,घर, रोजगार बात इससे आगे तो देश में कभी बढी ही नहीं । नेहरु से लेकर मोदी के दौर में यीह सवाल देश में रेगते रहे। अंतर सिर्फ इतना आया की आजादी के वक्त 30 करोड में 27 करोड लोगो के सामने यही सवाल मुहं बाये खडे थे और 2016 में सवा सौ करोड के देश में 80 करोड नागरिको के सामने .....

आगे पढ़ें...

भ्रष्टाचार के गर्त में डूबे देश में "हेलीकाप्टर" की क्या औकात?
462 बिलियन डालर, आजादी के बाद से साठ बरस के भ्रष्टाचार की यह रकम है। यह रकम ऐसे कालेधन की है जो टैक्स चोरी, अपराध और भ्रष्टाचार के जरीये निकली। वाशिंगटन की ग्लोबल फाइनेनसियल इंटीग्रेटी की रिपोर्ट के मुताबिक आजादी के बाद से ही भ्रष्टाचार भारत की जड़ों में रहा जिसकी वजह से 462 बिलियन डालर यानी 30 लाख .....

आगे पढ़ें...

1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19