पीड़िता ने पैर पकड़े, लाइन हाजिर किए गए इंस्पेक्टर तेज प्रकाश सिंह गुडम्बा

क्राइम रिव्यू गुडम्बा : प्लाईवुड फैक्ट्री में काम के दौरान कर्मचारी की मौत के मामले में संवेदनहीनता बरतने पर इंस्पेक्टर गुडम्बा तेज प्रकाश सिंह को लाइनहाजिर कर दिया गया है। एसएसपी नैथानी ने मामले की जांच एएसपी अभिषेक वर्मा को सौंपी है।

कुर्सी रोड पर प्लाईवुड फैक्ट्री में शुक्रवार को हुए हादसे के बाद एक विडियो वायरल हुआ था। विडियो में मृतक टिंकू यादव की मां लज्जावती इंस्पेक्टर तेज प्रकाश सिंह के सामने रिपोर्ट दर्ज करवाने के लिए गिड़गिड़ाती और पैर छूते दिख रही थीं। बाद में लोगों के विरोध पर रिपोर्ट दर्ज हुई थी। मामला सामने आने पर एसएसपी ने यह कार्रवाई की है।

गुडम्बा में मशीन गिरने से मजदूर की मौत का मामला


गुडम्बा में अवैध प्लाईवुड फैक्ट्री में मजदूर की मौत के बाद वन विभाग के स्थानीय बीट इंचार्ज दिलीप कुमार सिंह को शनिवार शाम निलंबित कर दिया गया। वन विभाग की छानबीन में बिना लाइसेंस के अवैध रूप से चल रही फैक्ट्री में खराब मशीनों से काम की पुष्टि हुई है। इससे पहले बेटे की मौत पर रिपोर्ट दर्ज करवाने पहुंची मां के सामने ऐठन दिखाने वाले इंस्पेक्टर तेज प्रताप सिंह को एसएसपी ने सुबह ही लाइन हाजिर कर दिया था।

बीकेटी के शिवपुरी, बाराखेमपुर निवासी आकाश उर्फ टिंकू यादव (19) अपने बड़े भाई पिंटू के साथ दो साल से कुर्सी रोड स्थित पैकरामऊ हनुमान मंदिर के पास स्थित लालबाबू उर्फ अजय गुप्ता की प्लाई फैक्ट्री में काम करता था। शुक्रवार सुबह करीब 7 बजे टिंकू प्लाई सुखाने वाली मशीन के पास खड़ा था। इसी दौरान मशीन का कंट्रोलर फेल हो गया और मशीन टिंकू के ऊपर गिर पड़ी। हादसे में टिंकू की मौत हो गई। फैक्ट्री में काम करने वाले मजदूरों के अनुसार दो महीने से मशीन खराब होने के बावजूद जबरन काम करवाया जा रहा था।

अवैध थी फैक्ट्री, वनकर्मी सस्पेंड

एसडीओ पहुंचे फैक्ट्री, नहीं मिला लाइसेंस डीएफओ लखनऊ मनोज सोनकर के अनुसार हादसे की जानकारी पर शनिवार को एसडीओ अयोध्या प्रसाद के नेतृत्व में टीम ने फैक्ट्री का निरीक्षण किया। इसमें बिना लाइसेंस के फैक्ट्री चलाए जाने की पुष्टि हुई है। डीएफओ के मुताबिक एसडीओ से पूरी जांच रिपोर्ट मांगी गई है। रिपोर्ट मिलते ही फैक्ट्री मालिक के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। उधर, गुडम्बा थाना प्रभारी धीरज शुक्ला के अनुसार फैक्ट्री मालिक पर गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तारी के लिए छापे मारे जा रहे हैं। उपनिदेशक कारखाना श्रम विभाग धर्मेंद्र प्रताप सिंह तोमर व सहायक निदेशक कारखाना टीना भाटिया ने भी फैक्ट्री का निरीक्षण किया। इस दौरान फोन पर हुई बातचीत में मालिक ने फैक्ट्री में दो-तीन मजदूर काम करते हैं, ऐसे में फैक्ट्री ऐक्ट में नहीं आते। जिला उद्योग केंद्र वाणिज्य विभाग में रजिस्ट्रेशन भी करवा रखा है। हालांकि कोई कागज नहीं दिखा सका।

वन विभाग की टीम ने बीकेटी स्थित प्लाईवुड फैक्ट्री का किया निरीक्षण।
फैक्ट्री मालिक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज, तलाश जारी

Posted By : Crime Review
Like Us on Facebook