ऊपर से नीचे तक ‘प्रभावशाली लोगों की बढ़ रही दबंगई’

एक ओर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार देश का राजनीतिक, प्रशासनिक और सामाजिक वातावरण सुधारने की कोशिश कर रही है वहीं दूसरी ओर देश में ऊपर से नीचे तक अधिकांश राजनीतिक दलों और सरकारी विभागों से जुड़े सभी श्रेणियों के छोटे-बड़े चंद प्रभावशाली लोग अपनी दबंगई से देश का वातावरण दूषित कर रहे हैं। ऐसे हाल ही के चंद उदाहरण निम्न में दर्ज हैं :
* 26 अप्रैल को बिहार में गोपालपुर के जद (यू) विधायक नरेंद्र कुमार नीरज उर्फ गोपाल मंडल को कहीं जाते समय सड़क जाम होने से गुस्सा आ गया और उसने सड़क के किनारे खड़े एक पिकअप वैन के ड्राइïवर रामचंद्र से गाली-गलौच करने के बाद डंडों से उसकी बेरहमी से पिटाई करके उसे गंभीर रूप से घायल कर दिया जिसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा।
* 2 मई को उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में कुछ साधु-संतों ने सपा विधायक सुरेश यादव पर भू-माफिया से मिल कर उनकी कुटी ‘पंचम दास’ पर कब्जा जमा लेने, वहां से हरे पेड़ कटवा देने और मंदिर को क्षतिग्रस्त करने के अलावा मारपीट करके उन्हें वहां से भगा देने की शिकायत पुलिस में दर्ज करवाई।
* 3 मई को जम्मू-कश्मीर में डोडा के भागला गांव के सरकारी हाई स्कूल की मुख्याध्यापिका सईदा अंजुम ने अधिकारियों से अनुमति लिए बगैर अपने बेटे तौसीफ की शादी पर स्कूल के 300 बच्चों और पूरे स्टाफ को छुट्टी दे दी।
* 8 मई को बिहार के गया में जद (यू) विधायक मनोरमा देवी के बेटे रॉकी यादव ने अपनी नई लैंड रोवर कार द्वारा उससे आगे जा रही स्विफ्ट कार को ओवरटेक करने में असफल रहने पर स्विफ्ट कार में जा रहे आदित्य सचदेव नामक युवक को गोली मार दी जिससे उसकी घटनास्थल पर ही मृत्यु हो गई।
* 12 मई को बिहार में ही सिवान के रघुनाथपुर से सत्तारूढ़ राजद के विधायक हरिशंकर यादव के 4 बेटों टुनटुन यादव, सुरेंद्र यादव, गौतम और पुष्पेंद्र के विरुद्ध पुलिस से मारपीट करने के आरोप में केस दर्ज किया गया।
* 13 मई को बिहार के पूर्णिया जिले के मीरगंज थाना के अंतर्गत रंगपुरा दक्षिण गांव में एक महिला सरपंच अजहरी खातून के 33 वर्षीय बेटे मोहम्मद तौसीफ उर्फ गुड्डा ने एक 10 वर्षीय मासूम से बलात्कार कर डाला जिसे गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया।
* 14 मई को उत्तर प्रदेश में बीसलपुर नगर पालिका के अध्यक्ष छेदा लाल जायसवाल ने अपनी मनमानी पूरी न करने पर कार्यालय के सीनियर टाइपिस्ट सत्या देव के साथ मारपीट की। छेदा लाल जायसवाल को एटा से समाजवादी पार्टी के नेता और विधान परिषद के सभापति रमेश यादव और हाजी रियाज अहमद के बेहद करीब माना जाता है।
* 15 मई को छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में ‘गीदम’ के बाजार में गनमैन के साथ आए नगर पंचायत अध्यक्ष भाजपा के अभिलाष तिवारी ने सड़क के किनारे सब्जी बेच रही महिला से न सिर्फ गाली-गलौच की बल्कि बिक्री के लिए रखी हुई उसकी सब्जियां भी लात मार कर बिखेर दीं। अन्य सब्जी बेचने वालों से भी उसने दुव्र्यवहार किया पर बाद में इसका वीडियो वायरल होने पर माफी मांग ली।
* 15 मई को ही बिहार के गोपालगंज में पूर्व सांसद साधु यादव के साले घनश्याम ने रंजिश मेें एक 50 वर्षीय किसान की गोली मार कर हत्या कर दी।
* 16 मई को राजस्थान के जालौर जिले के बगौरा में भाजपा युवा मोर्चा के अध्यक्ष हिंगलाज दान चारण को उसे सलाम न करने वाले एक युवक पर इतना गुस्सा आया कि उसने पहले तो उस युवक पर गोली चला दी और जब वह गोली उसे नहीं लगी तो लाठी-डंडों से उसे बुरी तरह पीट कर घायल कर दिया।
* 20 मई को ‘आम आदमी पार्टी’ के भूतपूर्व सैनिक विंग के प्रदेश अध्यक्ष जीवन सिंह के 17 वर्षीय बेटे पर कोटला कलां (पंजाब) के लगभग 60 लोगों ने स्कूली छात्राओं से छेड़छाड़ करने व जीवन सिंह पर उन्हें धमकाने के आरोप में पुलिस थाने में शिकायत दर्ज करवाई जिसे जीवन सिंह ने निराधार बताया है।
प्रभावशाली लोगों की दबंगई के ये तो कुछ नमूने मात्र हैं। इसके अलावा भी न जाने कितनी ऐसी घटनाएं हुई होंगी जो प्रकाश में नहीं आ पाईं। स्पष्टत अपने वरिष्ठों को देख कर उनसे नीचे दर्जे के लोग भी अपने प्रभाव और शक्ति का अनुचित इस्तेमाल कर रहे हैं।
इस गलत रुझान को सख्ती से रोकने की जरूरत है ताकि कोई भी किसी की कमजोरी का लाभ न उठा सके और देशवासी स्वच्छ प्रशासन और भयमुक्त वातावरण में स्वतंत्रता का सुख भोग सकें।

Posted By : ( Crime Review )
Like Us on Facebook