'बस भाषण में ज़ोर दिखाना स्वाभिमान नहीं होता, केक सने हाथों से शत्रु का संघान नहीं होता'



नई दिल्ली: पाकिस्तान के आतंकी संगठनों ने एक बार फिर भारत पर बड़ा आतंकी हमला किया है, जिसके जवाब में भारत ने तीखा पलटवार किया है. पीएम मोदी ने देश को भरोसा दिलाया है कि हमला करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा. मोदी ने ट्वीट कर कहा, “उरी में हुए कायराना आतंकी हमले की हम निंदा करते हैं. मैं देश को भरोसा दिलाना चाहता हूं कि जिन्होंने भी ये हमला किया है उन्हें सजा दिए बिना हम नहीं छोड़ेंगे.”
मोदी ने ट्वीट किया, “हमले पर मैंने रक्षा मंत्री और गृह मंत्री से बात की है. रक्षा मंत्री हालात का जायजा लेने के लिए जम्मू-कश्मीर जा रहे हैं.”

आइए जानते हैं कि इस बड़े आतंकी हमले पर देश के बड़े नेताओं का क्या कहना है:-

राजनाथ सिंह का बयान
गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान को आतंकी देश कहा है. गृहमंत्री ने कहा कि पाकिस्तान लगातार और प्रत्यक्ष रूप से आतंकवाद का समर्थन कर रहा है जिससे मैं बहुत निराश हूं.

राहुल गांधी का बयान
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भी उरी में हुए आतंकी हमले की निंदा की है. उन्होंने ट्वीट कर शहीदों को नमन किया और शहीदों के परिवार के प्रति संवेदना भी जाहिर की.

महबूबा मुफ्ती का बयान
जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने कड़े शब्दों में निंदा करते हुए कहा कि ताजा आंतकी हमला घाटी में युद्ध जैसे हालात पैदा करने के लिए किया गया है.

मुफ्ती ने कहा – “मैं इस हमले की कड़ी निंदा करती हूं, ऐसा लगता है कि ये हमला राज्य के हालात बिगाड़ने और यहां युद्ध जैसे हालात पैदा करने के लिए हुआ है.” भारत-पाक संबधों पर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि “राज्य हमेशा से भारत-पाक दुश्मनी का शिकार रहा है जिसका खामियाजा यहां के लोग पिछले छह दशक से भारी कीमत के साथ चुका रहे हैं.”

राम माधव का बयान
बीजेपी महासचिव राम माधव की भी तीखी प्रतिक्रिया आई है. राम माधव ने कहा है कि अगर कोई आपका एक दांत उखाड़े तो उसका जबड़ा की तोड़ दो.

लालू प्रसाद यादव का बयान
आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की लापरवाही को जिम्मेदार ठहराया है. लालू प्रसाद यादव ने कहा, ‘’नरेंद्र मोदी की लापरवाही से हमारे जवान मारे जा रहे हैं और जम्मू-कश्मीर हमारे हाथ से निकलता जा रहा है. उन्होंने कहा कि अब पूरी कड़ाई के साथ आतंकियों से निपटना होगा और नरेंद्र मोदी को देश को जवाब देना होगा.’’ लालू ने हमले में शहीद जवानों के परिवार के प्रति संवेदना भी जाहिर की. लालू ने इस आतंकी हमले की कड़े शब्दों में निंदा की है.

अरविंद केजरीवाल का बयान
दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा है कि उरी शहीद हुए जवानों और उनके परिवार के प्रति मेरी संवेदना है. हमले की निंदा करते हुए केजरीवाल ने कहा कि उरी में कायराना हरकत किया गया है जिसमें 17 जवान शहीद हो गए. भारत ऐसे हमलों से झुकेगा नहीं.

कुमार विश्वास का बयान
आम आदमी पार्टी नेता कुमार विश्वास ने मोदी पर हमला करते हुए ट्वीट कर कहा, ‘बस भाषण में ज़ोर दिखाना स्वाभिमान नहीं होता, केक सने हाथों से शत्रु का संघान नहीं होता.’
एक अन्य ट्वीट में कुमार विश्वास ने कहा, ‘एक USA जिसने हमले को युद्ध माना एक हम हैं जो युद्ध को हमला मान लेते है.देश साथ है पाक को भारतीय सेना के जांबाज तेवर देखने दीजिए सरकार.’

मनीष सिसोदिया का बयान
दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने ट्वीट कर कहा, ‘संकट की घडी है. अभी का बेहतरीन समाधान सेना के पास है. लेकिन डिप्लोमेसी की खतरनाक असफलता की ज़िम्मेदारी किसी को लेनी चाहिए.’

निर्मल सिंह का बयान
जम्मू-कश्मीर के उपमुख्यमंत्री निर्मल सिंह ने कहा है कि पाक की तरफ से हो रहे घुसपैठ पर बेहद गंभीर हैं. यह भारत के खिलाफ बहुत बड़ी साजिश है.

संजय सिंह का बयान
आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता संजय सिंह ने हमले के बाद पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा, ‘’आख़िर कब तक केक और शाल की राजनीति चलेगी ? पहले पठानकोट का हमला और अब उरी में आतंकी हमला. क्या मोदी जी कोई सबक लेंगे? या ऐसे ही जवान शहीद होते रहेंगे? संजय सिंह ने दूसरे ट्वीट में कहा, ‘पीड़ा से भर गया हूं, देश ने 17 वीर सपूत खो दिये हैं कई घायल हैं, मोदी जी कम से कम इस बार पाकिस्तान को उसकी भाषा में ज़वाब दीजिये.’

बीजेपी सांसद आरके सिंह का बयान
पूर्व गृह सचिव और बीजेपी सांसद आरके सिंह ने कहा कि पाक पर हिट बैक की नीति अपनाए सरकार. राजस्थान की सीएम वसुंधरा राजे ने ट्वीट कर कहा कि इस आतंकी हरकत की निंदा करती हूं.

तेजस्वी यादव का बयान
बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर कहा कि उरी में हमले कि निंदा करता हूं. राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ कोई समझौता नहीं.
श्रीनगर से सौ किलोमीटर दूर जम्मू कश्मीर के उरी में सेना के 12 ब्रिगेड के हेडक्वार्टर पर हुए आतंकवादी हमले में सेना के 17 जवान शहीद हो गए हैं, जबकि चारों आतंकियों को मार गिराया है. हाल के सालों में सेना और सुरक्षाबलों पर अब तक का सबसे बड़ा और घातक हमला है.
सरकार से जुड़े शीर्ष सूत्रों के मुताबिक, यह सभी आतंकी पाकिस्तान के एक बड़े गेम प्लान का हिस्सा थे, जो जम्मू-कश्मीर में अशांति फैलाना चाहते थे. सभी आतंकी लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े थे.

Posted By : Crime Review
Like Us on Facebook