दामाद का आरोप, गुरमीत राम रहीम के दत्तक पुत्री से हैं अवैध संबंध

डेरा प्रमुख के साथ हर समय दिखने वाली उनकी दत्तक पुत्री हनीप्रीत अपने पति के साथ नहीं रहती है। उसके पति विश्वास गुप्ता ने सन् 2011 में हाई कोर्ट में दायर अपनी याचिका में कहा था कि डेरा प्रमुख भले ही उसकी पत्नी को बेटी कहते हैं, पर उसके साथ डेराप्रमुख के अवैध संबंध हैं।

हनीप्रीत का वास्तविक नाम प्रियंका हैं। वह शुक्रवार को डेराप्रमुख को दोषी करार दिए जाने के बाद डेराप्रमुख के साथ हेलीकॉप्टर से रोहतक गई थी, जहां सुनारिया जेल में डेरा प्रमुख को रखा गया है। उसके बाद वह रोहतक से रहस्यमय तरीके से गायब हो गई। विश्वास का परिवार अब पंचकूला में रहता है। डेरा प्रमुख से जान का खतरा बताते हुए विश्वास और उसके पिता मोहिंदर पाल गुप्ता ने याचिका में अपनी सुरक्षा पर भी चिंता जताई थी। कहा था कि डेरा प्रमुख के पास प्रशिक्षित शूटर हैं। उसके परिवार को खत्म किए जाने की धमकी मिलती रहती है।

विश्वास गुप्ता हरियाणा के एक प्रभावशाली परिवार से है। उसके बाबा रुलिया राम गुप्ता करनाल के घरौंडा विधानसभा क्षेत्र से विधायक रहे थे। विश्वास ने अपनी याचिका में कहा था कि उसके बाबा डेरे के भक्त थे। उन्होंने डेरा प्रमुख के आदेश पर अपनी सारी संपत्ति बेचकर उससे मिला धन डेरे के स्वामित्व वाली फैक्टियों में लगा दिया था।

डेरा प्रबंधन ने तब कहा था कि जब भी गुप्ता कहेंगे उनका धन वापस कर दिया जाएगा। उसके बाद उसका परिवार डेरे में ही रहने लगा। विश्वास के मुताबिक 11 फरवरी 1999 को डेरा प्रमुख ने अपनी कथित पुत्री से उसकी शादी तय की थी। सत्संग के दौरान शादी तो हो गई, परंतु लड़की को एक बार भी उसके साथ नहीं भेजा गया।

विश्वास का कहना था कि वह तो यह सोचता था कि हनीप्रीत को डेराप्रमुख ने अपनी बेटी माना है, इसलिए संदेह की कोई बात नहीं, लेकिन जब वह रात में भी डेरा प्रमुख के कमरे में रहती तो हमें शक हुआ, इसलिए वह हनीप्रीत को अपने साथ रहने के लिए जोर देने लगा।

विश्वास का कहना था कि इसके बाद उसे और उसके परिवार को खत्म कर देने की धमकी मिलने लगी। इससे डरकर उसका परिवार डेरे से निकलकर पंचकूला में शिफ्ट हो गया। हालांकि बाद में इस केस में समझौता हो गया और हनीप्रीत ने विश्वास से तलाक ले लिया।

Posted By : crime review
Like Us on Facebook