आतंकवाद पर बात करने को तैयार है पाक, हमला हुआ तो देगा जवाब'

क्राइम रिव्यू लखनऊ : पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने कहा है कि यदि भारत आतंकवाद के मुद्दे पर ही बात करना चाहता है तो वह उसके लिए भी तैयार है। भारत आए और इस्लामाबाद से आतंकवाद पर बात करे। लेकिन यदि भारत ने पाकिस्तान पर किसी तरह का हमला किया तो पाकिस्तान उसका जवाब देगा। उन्होंने कहा, 'भारत के मीडिया में एक ही बात बार-बार कही जा रही है कि पाकिस्तान पर हमला कर दो। मैं पूछना चाहता हूँ कि यह हक़ किसने भारत को दिया है कि वह ख़ुद जज बन कर पाकिस्तान के ख़िलाफ़ कोई कार्रवाई करे। यदि भारत ने पाकिस्तान पर हमला करने की ग़लती की, तो पाकिस्तान जवाब देने की सोचेगा नहीं, जवाब देगा और ज़ोरदार जवाब देगा।'
क्रिकेटर से राजनेता बने ख़ान ने कहा कि यदि भारत के पास पुलवामा हमले से जुड़ा कोई सबूत है तो वह पाकिस्तान को दे, पाकिस्तान इसकी जाँच करेगा और दोषी लोगो को कड़ी से कड़ी सज़ा देगा। पर भारत पहले सबूत तो दे। इसके बग़ैर वह कैसे कह सकता है कि उस हमले में पाकिस्तान का हाथ है, उन्होंने पूछा।

'नया पाकिस्तान'

इमरान ने कहा कि भारत के लोगो को समझना चाहिए कि यह नया पाकिस्तान है, जो किसी तरह की आतंकवादी गतिविधियों में न तो शामिल होता है न ही उसे किसी तरह का समर्थन करता है। भारत के साथ कोई समस्या है तो वह पाकिस्तान से बात करे, पर बग़ैर सबूत के कोई आरोप न लगाए। उन्होंने पूछा कि आख़िर हम कब तक इस तरह आपस में लड़ते-झगड़ते रहेंगे। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि भारत में हाल ही में चुनाव होने हैं और वहाँ चुनाव के पहले इस तरह का वातावरण जानबूझ कर तैयार किया जा रहा है। पर इससे किसी को कोई फ़ायदा नही है।

चुप्पी पर सफ़ाई

पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान की चुप्पी पर भी उन्होंने सफ़ाई दी। इमरान ख़ान ने कहा कि सऊदी अरब के शाह पाकिस्तान आए हुए थे और राजकीय अतिथि थे। यहाँ निवेश पर कॉन्फ्रेंस चल रहा था। ऐसे में पाकिस्तान नहीं चाहता था कि लोगों का ध्यान इससे बँटे, लिहाज़ा वह इस मुद्दे पर चुप रहा।

Posted By : क्राइम रिव्यू सप्ताहिक अखबार लखनऊ
Like Us on Facebook