नहीं हुई विधायक इरफान सोलंकी की गिरफ्तारी

लखनऊ। कानपुर में जूनियर डाक्टर हिमांशु गुप्ता की तहरीर पर तीन दिन पहले दर्ज मुकदमे के बाद भी आज तक पुलिस ने समाजवादी पार्टी (सपा) के विधायक इरफान सोलंकी को गिरफ्तार नहीं किया है। थाना स्वरूप नगर में विधायक इरफान सोलंकी, उनके गनर व अज्ञात लोगों पर हत्या के प्रयास समेत अन्य संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया गया था।
इस मामले में मेडिकल छात्रों के खिलाफ दर्ज मुकदमा खत्म करने की दिशा में कोई प्रगति नहीं हुई है। मामला सपा विधायक से जुड़ा होने के कारण भी पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी है, जबकि मेडिकल के दो दर्जन से अधिक छात्रों को जेल भेजने में पुलिस ने काफी तत्परता दिखाई थी।

तीसरे दिन भी नहीं आई शासन की टीम:

जूनियर व सीनियर डाक्टरों की पांच दिनों तक चली हड़ताल के दौरान सूबे में तीन दर्जन से अधिक लोगों की मौत हो गई थी। इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ ने संज्ञान में लेकर न्यायिक जांच के आदेश दिए थे। इस कड़ी में राज्य सरकार ने एक सदस्यीय जांच कमेटी बनाई थी। हड़ताल खत्म होने बाद तीसरे दिन भी शासन की जांच टीम नहीं पहुंची।

मंत्री जी, मुकदमे खत्म करा दीजिए:

जेल से रिहा होने के बाद कानपुर के हैलट हास्पिटल में भर्ती जूनियर डाक्टरों को देखने रेशम व वस्त्र उद्योग मंत्री शिवकुमार बेरिया हैलट पहुंचे। उन्होंने जूनियर डाक्टरों से उनका हाल पूछा। जूनियर डाक्टरों ने मंत्री से दर्ज मुकदमें खत्म कराने की अपील की। छात्रों के अभिभावकों ने भी मंत्री से न्याय की गुहार लगाई।
भर्ती छात्रों में आठ के हाथों में फ्रैक्चर है। बेरिया को मेडिकल छात्र आलोक वर्मा ने छात्रों की ओर से एक प्रार्थना पत्र देकर दर्ज मुकदमे खत्म किए जाने की अपील की। वहीं, मेडिकल छात्र नवीन कुमार ने उनसे कहा कि जब तक मुकदमे खत्म नहीं होते, उनके दिलों में दहशत कम नहीं होगी। ऐसे में पढ़ाई और परीक्षा देना संभव नहीं हो पाएगा। गंभीर घायल छात्र अभिषेक के पिता एलडी भारती व मां शांति ने रोते हुए मंत्री से कहा कि जिस बेटे को कभी एक थप्पड़ नहीं मारा, पुलिस ने उसे पीट-पीटकर हाथ पैर तोड़ दिए हैं। मंत्री ने कहा कि पुलिस की पिटाई से छात्र घायल हुए हैं। शासन की तरफ से न्यायिक जांच कराई जा रही है। उन्होंने नुकसान के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष से मदद दिलाने का आश्वासन दिया।

यूपीपीजीएमई प्रवेश परीक्षा तिथि बढ़ाने की मांग:

आइएमए अध्यक्ष डॉ. आरती लाल चंदानी ने बेरिया से यूपीपीजीएमई प्रवेश परीक्षा की तिथि बढ़ाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि पुलिसिया कार्रवाई के बाद से छात्र घायल व मानसिक परेशान हैं। ऐसे में वह लोग परीक्षा नहीं दे पाएंगे। कुछ समय और मिले तो उनका साल बर्बाद नहीं होगा।

Posted By : CRIME REVIEW
Like Us on Facebook